Tag: Harishankar Parsai stories

प्रेम-पत्र और हेडमास्टर: भयंकर अंतरविरोध की कहानी (लेखक: हरिशंकर परसाई)

हम भयंकर अंतरविरोध वाले समाज में रहते हैं, बता रही है हरिशंकर परसाई की कहानी ‘प्रेम-पत्र और हेडमास्टर’. गुरु लोगों ...

आवारा भीड़ के खतरे: भीड़ वाली मानसिकता की कहानी (लेखक: हरिशंकर परसाई)

हरिशंकर परसाई की यह रचना तो वैसे दशकों पहले की है. पर देश की मौजूदा आबोहवा में कहानीनुमा व्यंग्य ‘आवारा ...

कहावतों का चक्कर: कहानी कहावतों के नफ़ा-नुक़सान की (लेखक: हरिशंकर परसाई)

हम सभी स्कूली दिनों में कहावतें, सुभाषित रटते हैं. क्या फ़ायदा होता है इन कहावतों और सुभाषितों का? व्यंग्य सम्राट ...

मैं नर्क से बोल रहा हूं: भूख से मरे आदमी की कहानी (लेखक: हरिशंकर परसाई)

हमारे समाज की विसंगतियों, विडंबनाओं पर जिन लेखकों ने बेहिचक अपनी धारदार लेखनी चलाई उसमें हरिशंकर परसाई प्रमुख थे. भूख ...

प्रेमचंद के फटे जूते: हिंदी के लेखकों की स्थिति पर व्यंग्य (लेखक: हरिशंकर परसाई)

व्यंग्यकार हरिशंकर परसाई की पैनी नज़र से भला कौन बच पाया. उन्होंने उपन्यास सम्राट मुंशी प्रेमचंद की फ़ोटो में उनके ...

पहला सफ़ेद बाल: बेवफ़ा बालों पर एक फ़िलॉसफ़िकल चर्चा (लेखक: हरिशंकर परसाई)

बाल सफ़ेद होना एक सहज और अनिवार्य क़ुदरती प्रक्रिया है. फिर भी हम अपना पहला सफ़ेद बाल देखकर डर जाते ...

अश्लील: कहानी एक अनूठे विरोध की (लेखक: हरिशंकर परसाई)

एक शहर में अश्लील किताबों के अनूठे विरोध प्रदर्शन पर करारा व्यंग्य है प्रतिष्ठित व्यंग्यकार हरिशंकर परसाई की यह रचना. ...

भेड़ें और भेड़िए: कहानी प्रजातंत्र की (लेखक: हरिशंकर परसाई)

कैसे भेड़ों ने अपनी हित-रक्षा के लिए भेड़ियों को चुना, मशहूर व्यंग्यकार हरिशंकर परसाई ने अपनी इस कहानी में हमारे ...

अन्य

ईमेल सब्स्क्रिप्शन

नए पोस्ट की सूचना मेल द्वारा पाने हेतु अपना ईमेल पता दर्ज करें

Join 6 other subscribers

Recommended

Welcome Back!

Login to your account below

Retrieve your password

Please enter your username or email address to reset your password.

Add New Playlist