poetry-collection

काल के करघे पर आखरों की कताई: महिलाओं के मनोभावों को उकेरता कविता संग्रह

काल के करघे पर आखरों की कताई, यह लेखिका, कवयित्री व चित्रकार अमृता सिन्हा का पहला काव्य संग्रह है. बोधि...

Book-review

ऐसी ही कवयित्री कह सकती है कि मुझे ईश्वर नहीं नींद चाहिए

बीते दिनों सुख्यात कवयित्री अनुराधा सिंह को दिल्ली के गांधी शांति प्रतिष्ठान के सभागार में शीला सिद्धांतकर स्मृति सम्मान से...

नारीवादी निगाह से-सीइंग लाइक अ फ़ेमिनिस्ट: महिलाओं के संघर्ष को जानने समझने की एक खिड़की

नारीवादी निगाह से-सीइंग लाइक अ फ़ेमिनिस्ट: महिलाओं के संघर्ष को जानने समझने की एक खिड़की

फ़ेमनिज़्म या नारीवाद के बारे में सबसे बड़ी ग़लतफ़हमी यह है कि यह पुरुष विरोधी अवधारणा है. निवेदिता मेनन की...

मीडिया में महिलाओं की भूमिका: महिला पत्रकारों के संघर्ष से सफलता के सफ़र की कहानी

मीडिया में महिलाओं की भूमिका: महिला पत्रकारों के संघर्ष से सफलता के सफ़र की कहानी

आदर्श रूप से देखें तो पत्रकारिता एक ज़िम्मेदारी और चुनौतीभरा पेशा है. यह चुनौतियां और ज़िम्मेदारियां दोगुनी हो जाती हैं,...

Page 1 of 2 1 2

ईमेल सब्स्क्रिप्शन

नए पोस्ट की सूचना मेल द्वारा पाने हेतु अपना ईमेल पता दर्ज करें

Join 4 other subscribers

Recommended

Welcome Back!

Login to your account below

Retrieve your password

Please enter your username or email address to reset your password.

Add New Playlist